जातीय हिंसाः एक दलित की मौत, गर्भवती सहित तीन घायल

Sultanpur

सुलतानपुर। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद भी दलितों के खिलाफ हो रही हिंसा रुकने का नाम नहीं ले रही. आए दिन दलितों पर सवर्ण समुदाय के लोग हमला कर रहे हैं. दलितों को शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना का शिकार होना पड़ रहा है. सुलतानपुर के रामनाथ पुर गांव में कुछ ब्राह्माणों ने एक दलित परिवार पर हमला कर दिया.

दलित परिवार के मुखिया सहित गर्भवती बहु-बेटे और पत्नी की सवर्णों ने लाठी-डंडों से पिटाई कर दी. जिसमें परिवार के मुखिया की मौत हो गई. सूचना के बाद पहुंची यूपी 100 ने घायलों को 108 एंबुलेंस से सीएचसी पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने परिवार के मुखिया को मृत घोषित कर दिया. बहू-बेटे व पत्नी की हालत नाजुक होने पर उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने पुलिस की दो टीमें की गठित है. मृतक के बेटे की तहरीर पर पांच लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है. जयसिंहपुर कोतवाली क्षेत्र के रामनाथपुर गांव निवासी दलित रामजीत (45) के घर पर शुक्रवार (14 जुलाई) की दोपहर बाद करीब दो बजे गांव के ही ब्राह्मणों ने लाठी-डंडे से हमला कर दिया. रामजीत के घर में जो भी मिला उसे जमकर पीटा. पिटाई के बाद हमलावर फरार हो गए.

पिटाई से रामजीत, पत्नी सुमित्रा (42), बेटा मंजीत (25) व गर्भवती बहू अंतिमा (20) पत्नी मंजीत गंभीर रूप से घायल हो गए. तीनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हमलावरों के जाने के बाद हिम्मत जुटाकर रामजीत के घर पहुंचे ग्रामीणों ने इसकी सूचना यूपी 100 को दी. सूचना के बाद पहुंची यूपी 100 ने 108 एंबुलेंस को बुलाकर सभी को सीएचसी जयसिंहपुर भेजा.

पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा ने बताया कि एएसपी सूर्यकांत त्रिपाठी को घटना स्थल पर जांच के लिए भेजा गया है. पुलिस ने कार्रवाई क्यों नहीं की, इसकी भी जांच की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here