दलित की बारात रोक की मारपीट, दूल्हा बारात लेकर पहुंचा थाने

gurdaspur

गुरदासपुर। पंजाब के गुरदासपुर में एक दलित की बारात को रोकने और बारातियों के साथ मारपीट करने का मामला सामने आया है. इसकी शिकायत जब पुलिस ने लिखने से मना कर दिया तो दूल्हा बारात लेकर थाने पहुंच गया. इसके बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज कर कार्रवाई का आश्वासन दिया तब जाकर बारात रवाना हुई.

दरअसल, गुरदासपुर के थाना दोरांगला के गांव गुत्थी में एक उच्च जाति परिवार के लोगों ने दलित परिवार की निकल रही बारात के दौरान दूल्हे सहित बारातियों से मारपीट कर उनकी बारात रोकने की कोशिश की. इतना ही नहीं जातिवादी गुंडों ने दलितों को जाति सूचक गालियां तथा बारात न ले जाने की धमकियां दीं. पीडि़त लोग अपनी शिकायत लेकर थाना दोरांगला पहुंचे, लेकिन वहां पर उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई. जिसके बाद दूल्हा अपनी बारात सहित एसएसपी कार्यालय में पहुंचा, लेकिन वहां पर भी तसल्ली बख्श जवाब न मिलने के चलते सभी बाराती थाने में ही रहे. इसके बाद पुलिस ने माहौल बिगड़ता देख आरोपियों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया, जिसके बाद बारात शादी के लिए रवाना हुई.

गुत्थी गांव के पीड़ित दूल्हे बलजिन्दर ने बताया कि वह बीएसएफ में है और इस समय छत्तीसगढ़ में तैनात है. 29 नवंबर को उसकी शादी थी तथा उसे बारात लेकर जालंधर जाना था. सुबह करीब 9 बजे, जब वह घोड़ी पर बैठा था और उसकी भाभियां उसे सुरमा लगाने की रस्म निभा रही थीं तो इसी दौरान गांव का ही पृतपाल सिंह जिनके घर भी शादी होने वाली है ट्राली में कुर्सियां लेकर आ रहा था. उसने हमसे रास्ता मांगा जिस पर हमारे रिश्तेदारों ने कहा कि रस्म हो रही है थोड़ा इंतजार कर लो. इसके बाद उसने फोन करके अपने घर से अपने भाइयों अमनदीप व अमृतपाल के अलावा कुछ और नौजवानों को बुला लिया, जिन्होंने मुझे घोड़ी से नीचे उतारने की कोशिश की तथा बीच-बचाव के लिए आए परिवार व अन्य रिश्तेदारों से मारपीट की. मारपीट के दौरान उन्होंने हमें जातिसूचक गालियां भी दी तथा धमकियां देने लगे कि यह बारात कहीं नहीं जाएगी.

बलजिन्दर के पिता हरभजन और माता तनिन्दर कौर ने आरोप लगाया कि पृतपाल उच्च जाति से संबंधित हैं तथा उनके घर से कोई भी लड़का कोई काम नहीं करता. मेरे दो बेटे हैं, जिनमें से बड़ा विदेश में है तथा छोटा बीएसएफ में है. मनुवादियों ने इसी बात के कारण हमसे रंजिश रखते हैं. मनुवादियों ने स्थानीय नेताओं की शह पर हमारा घर भी तुड़वा दिया था. लेकिन आज जो उन्होंने कहा कि उससे हमें बेहद शर्मिंदा होना पड़ा है.

शहर के डीएसपी एडी सिंह ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद संबंधित थाना प्रभारी को कार्रवाई के आदेश जारी कर दिए गए हैं. जातिसूचक गालियां व धमकियां देने संबंधी जांच करने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी. दोरांगला थाना के प्रभारी कुलविन्दर सिंह ने कहा कि उक्त मामले में कुछ लोगों को पकड़ा गया है. पीडि़त परिवार ने अभी तक कोई बयान नहीं दिया. उनके बयान लेने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी.

इनपुट दैनिक भास्कर से

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here