वर्धा हिंदी विश्वविद्यालय में दलित छात्र को दी जातिसूचक गालियां

वर्धा। महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय में एक बार फिर जातीय भेदभाव की घटना सामने आई है. मास्टर ऑफ सोशल वर्क (एमएसडब्लू) के तीसरे सेमेस्टर के जातिवादी मानसिकता वाले छात्र ने बौद्ध अध्ययन में पढ़ने वाले एमए के छात्र का चीवर(चोला) पकड़ कर खींचा और जातिसूचक गालियां दी.

दरअसल, बौद्ध अध्ययन में एमए के तीसरे सेमेस्टर का दलित छात्र धम्मवीर बौद्ध बिरसा मुंडा हॉस्टल के मेस में डिनर करने के बाद वापस छात्रावास में आया तो गेट पर एमएसडब्लू के छात्र चंद्रभूषण सिंह ने उस पर हमला कर दिया. चंद्रभूषण ने धम्मवीर का चीवर पकड़कर खींचा और जातिसूचक गाली देने लगा. जब दलित छात्र ने विरोध किया तो उसने गाली देते हुए कहा कि मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता.

इस घटना का जब धम्मवीर के दोस्तों को पता चला तो वह चंद्रभूषण से बातचीत करने गए लेकिन उसने उनको भी धमकाया और कहा कि वह धम्मवीर को जान से मार देगा. उस समय चंद्रभूषण ने शराब पी रखी थी. ऐसा यह आए दिन करता रहता है और अन्य छात्रों से भी गाली गलौज करता रहता है. चंद्रभूषण को हॉस्टल में कोई रूम अलोट नहीं हुआ है. इसके बावजूद भी वह हॉस्टल में ही रहता है.

धम्मवीर बौद्ध ने इस मामले में वर्धा के रामनगर थाने में शिकायत दर्ज कराई है. शिकायत पत्र में धम्मवीर ने लिखा है कि इस घटना से मेरे चीवर की छवि धूमिल हुई है और मैं काफी अपमानित महसूस कर रहा हूं. धम्मवीर ने उचित कार्रवाई की मांग की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here