यूपी में दलित छात्रा की ईंट से मार-मार कर हत्या

banda

बांदा। यूपी में दलितों पर अत्याचार रूकने का नाम नहीं ले रहा है. हाल ही में राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट में भी यूपी में दलितों पर अत्याचार बढ़ने के आकड़ों की भी पुष्टि की है. आंकड़े जारी होने के बाद भी यूपी सरकार और पुलिस दलितों की सुरक्षा करने में नाकामयाब साबित हो रही है.

इसी क्रम में यूपी के बांदा में एक दिल दहलाने वाली दुर्घटना हुई है. बांदा के बिसंड़ा थाना क्षेत्र के अलिहा गांव में दसवीं कक्षा की दलित छात्रा की कुछ लोगों ने ईंट से मार-मार कर हत्या कर दी. मृतक छात्रा के पिता ने बताया कि पड़ोसी युवक कुछ लोगों के साथ घर में घुसकर उनकी छोटी बेटी के अपहरण की कोशिश कर रहे थे. उन्होंने आगे बताया कि हमने उसका विरोध किया तो उन लोगों ने मुझे और मेरे बेटे को ईंट और लात-घूसों से मारा. इसी बीच लड़की ने इसका विरोध किया, तो ईंट से पीट-पीट कर उसकी हत्या कर दी.

गरीबदास रैदास की 16 वर्षीय बेटी दसवीं कक्षा में पढ़ती थी. बुधवार सुबह चार बजे घर में जब सब सो रहे थे तो पड़ोसी युवक अपने एक साथी के साथ दीवार फांदकर उनके घर के अंदर घुस गया. पिता के नजदीक चारपाई में सो रही छात्रा का पड़ोसी व उसके साथी ने अपहरण करने का प्रयास किया. छात्रा के शोर मचाने पर नजदीक चारपाई में सो रहे पिता व भाई नीरज की नींद खुल गई. तीनो ने मिलकर उनका विरोध करना शुरू किया तो उन्होंने दीवार की जमीन में पड़ी ईंट से छात्रा के सिर व चेहरे पर ताबड़-तोड़ वार कर हत्या कर दी. हत्यारोपियों ने पिता को पीटकर उनके दांत तोड़ दिए. भाई की भी लात-घूंसों से पिटाई कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद भाग रहे पड़ोसी को घायल हो चुके पिता ने पकड़ने का प्रयास किया तो जैकेट उसके हाथ लगी. दोनो हत्या के आरोपी भागने में सफल रहे.

बड़ी बेटी का भी हुआ अपहरण…

रैदास ने मामले की सूचना पुलिस को दी. इससे पुलिस परिजनों के साथ छात्रा को जिला अस्पताल ले गई. वहां चिकित्सकों ने उसे देखकर मृत घोषित कर दिया. घटना के बारे में मृतका के पिता ने पुलिस को बताया कि 12 अक्टूबर की शाम उसकी दिव्यांग बड़ी बेटी सुमन घर से शौच के लिए खेतों की ओर गई थी. फतेहपुर जनपद के जजरहा ललौली गांव के तांत्रिक गफार और उसके साथी विजय ने उसको बहला-फुसला कर अपहरण कर लिया था. आरोपी दिव्यांग बेटी के साथ दो लैपटाप, नकदी व सोने-चांदी के जेवर भी ले गए थे. घटना की उसने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. इसमें पुलिस ने गांव के कई लोगों से भी जाकर पूछताछ किया था. हत्यारोपी पड़ोसी के भाई व अन्य परिजनों ने पुलिस के पूछताछ करने को लेकर उसे देख लेने की धमकी दी थी. उसी रंजिश के चलते पड़ोसी युवक समेत आधा दर्जन लोग सुबह उसके घर पहुंचे थे. पड़ोसी के साथ घर के अंदर कूदकर आया उसका साथी घटना के समय मुंह कपड़े से ढके था. उनके तीन-चार अन्य साथी घटना के समय घर के बाहर खड़े थे.

सूचना मिलने पर अपर पुलिस अधीक्षक, बबेरू के सीओ और बिसंडा के थानाध्यक्ष ने घटनास्थल का मुआयना कर आला कत्ल ईंट व जैकेट को अपने कब्जे में लिया. सीओ का कहना है कि शीघ्र हत्या के आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ा जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here