जातिवादी गुंडें नहीं उठने दे रहे थे दलित बेटी की बंदौली, लिया पुलिस का सहारा

Representative Image

जयपुर। देश आजाद हुए 70 साल हो गए हैं लेकिन आज भी लोग आजाद नहीं है. लोग मानसिक गुलामी में जी रहे है. समाज में आज भी दलितों को घृणा की दृष्टि से देखा जा रहा है, ऐसा ही मामला खिंवाड़ा थाना क्षेत्र के गुड़ा दुर्जन गांव में सामने आया है.

दरअसल, गुड़ा दुर्जन गांव के निवासी ने पुलिस-प्रशासन को शिकायत की थी कि उनकी पुत्री की शादी 3 जुलाई को है. रविवार को पुत्री को घोड़ी पर बंदौली निकालने का गांव के कुछ जातिवादी लोग विरोध कर रहे हैं. एसपी दीपक भार्गव ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सीओ बाली गुलाबसिंह के साथ खिंवाड़ा थाना प्रभारी राजूराम चौधरी को पुलिस दल के साथ मौके पर भेजा.

गांव पहुंची पुलिस अफसरों ने दोनों पक्षों से काफी समझाइश की, जिसके बाद पुलिस सुरक्षा में दुल्हन की बंदौली निकाली गई. तय कार्यक्रम के अनुसार दुल्हा सोमवार सुबह युवती के घर बरात आएगी और शादी का आयोजन होगा जिसको देखते हुए भी गांव में एहतियात के तौर पर पुलिस को तैनात किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here