ट्रेन के सामने कूदे बक्सर के DM

 

नई दिल्ली। बिहार के बक्सर जिले के डीएम मुकेश कुमार पांडे ने बीती रात गाजियाबाद में ट्रेन के आगे आकर खुदकुशी कर ली. गाजियाबाद स्टेशन से 1 किलोमीटर दूर कोटगांव के पास रेलवे ट्रैक पर उनका शव मिला. फ़िलहाल जीआरपी ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. इस खुदकुशी की मिस्ट्री दिल्ली से शुरू होती है. गुरुवार शाम 6:30 बजे दिल्ली पुलिस को डीएम के दोस्तों ने ख़बर दी कि डीएम मुकेश पांडे जनकपुरी मॉल में सुसाइड करनेवाले हैं. उन्होंने वाट्सऐप के ज़रिए इसकी जानकारी दी. पुलिस मौक़े पर पहुंची, लेकिन डीएम वहां नहीं मिले. मॉल के सीसीटीवी फ़ुटेज में वह शाम 5:55 बजे मॉल से बाहर जाते दिखे हैं. बताया जा रहा है कि वे यहीं से ग़ाज़ियाबाद के लिए निकले थे, जहां उन्होंने ख़ुदकुशी की. डीएम ने अपने दोस्तों को भेजे मैसेज में लीला पैलेस होटल में अपना सुसाइड नोट होने की बात कही थी. पुलिस ने अब वह सुसाइड बरामद कर लिया गया है.

सूत्रों का कहना है कि मुकेश पांडे काफ़ी समय से तनाव में चल रहे थे. साथ ही पारिवारिक समस्याओं से भी जूझ रहे थे. छपरा के रहनेवाले मुकेश पांडे 2012 बैच के आईएएस अफ़सर थे और बीते 31 जुलाई को ही बक्सर ज़िले के डीएम का पदभार संभाला था. आईएएस के तौर पर यह उनकी पहली पोस्टिंग थी. इससे पहले वह कटिहार में बतौर डीडीसी तैनात थे.

सुसाइड नोट में मुकेश ने लिखा “मैं मुकेश पांडे, आइएएस 2012 बैच बिहार कैडर,अभी बक्सर में डीएम के पद पर तैनात हूं. मैं अपने निजी परेशानियों की वजह से ख़ुदकुशी कर रहा हूं. कृपया करके मेरी मौत के बाद मेरे रिश्तेदारों को इसकी सूचना पहुंचा देना. मैं अभी दिल्ली के लीला पैलेस होटल के रूम नंबर 742 में रह रहा हूं. मेरी ख़ुदकुशी की वजह मेरे बैग में हैं जो होटल के कमरे में रखा है.”

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुख जताते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है. मुकेश पांडेय की मौत हृदयविदारक है. वह कुशल प्रशासक, संवेदनशील पदाधिकारी थे. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे. वहीं बीजेपी नेता अश्विनी चौबे ने कहा कि यह इस परिवार के लिए दुखद समय है. मैं इस परिवार से बहुत पहले से जुड़ा था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार- होटल लीला से मिले सुसाइड नोट में पत्नी और मां-बाप के बीच झगड़े से परेशान होने की बात सामने आ रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here