दो पत्ते तोड़ने पर खेत-मालिक ने काटी दलित लड़की की दो उंगुली

कौशाम्बी। यूपी के कौशाम्बी जिले में खेत से एक पौधे की दो पत्तियां तोड़ने पर खेत मालिक ने तेरह साल की दलित लड़की को ऐसी सजा दी, जिसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे. आरोप है कि खेत-मालिक ने दो पत्तियां तोड़ने के बदले दलित लड़की के दाहिने हाथ की दो उंगलियां काट डालीं. हालांकि पीड़ित लड़की की हालत देखने के बाद गांव के लोगों ने उंगलियां काटने के आरोपी मालिक की जमकर पिटाई की.

पीड़ित लड़की की शिकायत पर कौशाम्बी पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें भी बनाई गई हैं. मामूली सी गलती पर तेरह साल की दलित लड़की सुशीला के साथ हैवानियत करने का यह मामला यूपी के कौशाम्बी जिले के सराय आकिल इलाके के पुरखास गांव का है.

जानकारी के मुताबिक़ मजदूरी कर अपने परिवार का पेट पालने वाले दलित समुदाय के संगम लाल की तेरह साल की बेटी सुशीला बीते मंगलवार को दिन में अपने जानवरों के लिए घास काटने गई थी. सुशीला जिस जगह घास काट रही थी, उसी से सटी हुई जगह पर गांव के ही फारूक का खेत है.

आरोप है कि घास काटने के दौरान सुशीला ने फारूक के खेत में लगे शकरकंद के पौधे की दो पत्तियां भी काट दीं. इस पर वहां मौजूद फारूक और उसके बेटों ने सुशीला से उसकी हसिया छीनकर दो पत्तियों के बदले उसके दाहिने हाथ की दो उंगलियां काट दी. तेरह साल की दलित सुशीला की उंगलियों से खून बहने लगा तो आरोपी घबरा गए और उन्होंने उसकी कटी हुई उंगलियों पर पट्टी बांधकर उसे वहां से भगा दिया.

सुशीला के साथ हुई हैवानियत की खबर जब गांव के लोगों को हुई तो वह गुस्से में उबल पड़े. गांव वाले जब तक मौके पर पहुंचते तब तक उंगलियां काटने के आरोपी फारूक के बेटे भाग चुके थे. फारूक ने लाख सफाई देने की कोशिश की, लेकिन भीड़ ने उसकी पिटाई कर दी. पीड़ित सुशीला और उसके परिवार वालों की शिकायत पर कौशाम्बी पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है. फिलहाल किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है. अफसरों के मुताबिक़ आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें बनाई गई हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here