हमारे बारे में न लिखतीं तो जिंदा रहतीं गौरी लंकेश- भाजपा नेता

बेंगलुरू। भाजपा के एक नेता ने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को लेकर एक आपत्ति जनक बयान दिया है. इस बयान ने जहां संघ और भाजपा के नेताओं की मंशा बता दी है तो वहीं गौरी लंकेश की हत्या को लेकर संघ और भाजपा पर सवाल उठने लगे हैं. बयान कर्नाटक से आया है.

कर्नाटक के भाजपा नेता जीवराज ने कहा कि अगर गौरी लंकेश राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों की मौत के जश्न के बारे में ना लिखती तो शायद आज जिंदा होतीं. भाजपा कार्यकर्ताओं की एक बैठक में जीवराज ने यह बयान दिया. जीवराज भाजपा के कोई साधारण कार्यकर्ता नहीं हैं, बल्कि पूर्व मंत्री भी रह चुके हैं.

जीवराज ने कहा कि कांग्रेस राज में हमनें संघ के लोगों को मरते हुए देखा, जिसके बाद गौरी लंकेश ने भी उनके बारे में लेख छापा. लेकिन अगर वह इस तरह के लेखों से दूर रहतीं तो आज शायद जीवित होतीं. गौरी लंकेश मेरी बहन की तरह हैं, लेकिन जिस तरह से उन्होंने हमारे खिलाफ लिखा वह गलत था.

ये भी पढ़ेंः बिहार कांग्रेस अध्यक्ष ने रो कर बताई पार्टी में फूट की व्यथा

भाजपा नेता का यह बयान तब आया है जब एक दिन पहले ही भाजपा कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या को लेकर कर्नाटक सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर चुकी है. ऐसे में पूर्व मंत्री का बयान यह सवाल उठाता है कि गौरी लंकेश की हत्या पर भाजपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं के आंसू मगरमच्छ के तो नहीं.

गौरतलब है कि गौरी लंकेश की हत्या 5 सितंबर की देर शाम को चार अज्ञात लोगों ने उनके घर के बाहर कर दी थी. गौरी लंकेश साप्ताहिक मैग्जीन ‘लंकेश पत्रिके’ की संपादक थीं. साथ ही वह अखबारों में कॉलम भी लिखती थीं. लंकेश के दक्षिणपंथी संगठनों से वैचारिक मतभेद थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here