दंगे की झूठी तस्वीर पोस्ट कर भाजपा नेता ने फैलायी अफवाह  

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की घटना पर इस समय देश में चौतरफा राजनीति जारी है ऐसे में कुछ नेता आग मे घी का काम कर रहे हैं जिसमें बीजेपी नेता नूपुर शर्मा का नाम भी जुड़ गया है. पश्चिमी बंगाल के नॉर्थ 24 परगना जिले में करीब एक हफ्ते से सांप्रदायिक तनाव जारी है. ऐसे में बीजेपी जहां ममता सरकार पर हिंसा रोकने में नाकामी का आरोप लगा रही है. इस बीच बीजेपी की एक नेता पर किसी दूसरे जगह की तस्वीर को पश्चिम बंगाल की बताकर सोशल मीडिया पर शेयर करने और सांप्रदायिक नफरत फैलाने का मामला सामना आया है.

बता दें की बीजेपी नेता नूपुर शर्मा ने शनिवार को ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट कर लोगों से पश्चिम बंगाल में सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन में भाग लेने की अपील की थी. जिस तस्वीर को पोस्ट किया गया था उस पर लिखा था कि पश्चिम बंगाल में शांति और गरिमा का हर मोर्चे पर बुरा हाल हुआ है. तस्वीर में एक गाड़ी को जलते हुए दिखाया गया है और उसके आस-पास दंगाइयों की भीड़ दिख रही है. शर्मा के ट्वीट के बाद बड़ी संख्या में ट्विटर यूजर्स ने उन पर गलत तस्वीर के माध्यम से नफरत भड़काने का आरोप लगाया.

संगीतकार विशाल डडलानी ने भी नूपुर शर्मा के ट्वीट पर तीखा जवाब दिया. उन्होंने लिखा, ‘2002 के गुजरात दंगे की तस्वीरों का इस्तेमाल बंगाल में सांप्रदायिक नफरत फैलाने के लिए हो रहा है. इस अकाउंट की रिपोर्ट क्यों नहीं की गई है उनके अकाउंट को बंद क्यों नहीं किया गया है जब नेता ही अफवाह फैला रहे हैं तो शांति की उम्मीद किस से की जायेगी.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here