बिहार TET में 80 प्रतिशत से ज्यादा फेल

पटना। बिहार प्रारंभिक शिक्षक (प्रशिक्षित) पात्रता परीक्षा-2017 में सिर्फ 17 फीसद अभ्यर्थी ही उत्तीर्ण हुए हैं, जबकि 80 फीसद से ज्यादा अभ्यर्थी फेल हो गए. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने गुरुवार को रिजल्ट जारी कर दिया.

उन्होंने बताया कि पेपर वन (कक्षा 1 से 5) की परीक्षा में शामिल होने के लिए 49,488 अभ्यर्थियों ने आवेदन दिया था. परीक्षा में 43,794 अभ्यर्थी शामिल हुए, जिनमें 7,038 (16.07 फीसद) को सफलता मिली. पेपर टू में 1,91,164 अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया. परीक्षा में 1,68,761 शामिल हुए. इसमें से 30,113 (17.84 फीसद) अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए हैं.

बोर्ड अध्यक्ष के अनुसार पेपर वन में 1954 और पेपर टू में 9397 अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट रद कर दी गई है. कुल 11,351 अभ्यर्थियों के ओएमआर शीट का मूल्यांकन नहीं किया गया है. रद किए गए ओएमआर शीट के साथ अभ्यर्थियों ने छेड़छाड़ की थी. कई शीट में वाइटनर का उपयोग किया गया था. रद की गई अधिकतर शीट में सभी कॉलम बताए गए तरीके से भरे नहीं गए थे.

बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि टीईटी के प्रश्न पत्र में त्रुटि वाले सभी प्रश्नों को हटाकर कटऑफ सूची जारी की गई है. गलत प्रश्नों की संख्या विषयवार अलग-अलग हैं. किस विषय में कितने प्रश्न गलत हैं. उन्होंने बताया कि कई प्रश्न प्रिंटिंग में त्रुटि के कारण भी हटाए गए हैं. कई प्रश्नों पर अभ्यर्थियों ने आपत्ति दर्ज कराई थी. उन सभी की जांच बोर्ड की विशेषज्ञ टीम ने की. रद किए गए प्रश्न के सभी पहलुओं को पूरी तरह से जांच कराने के बाद ही हटाने का निर्णय लिया गया. सूत्रों की मानें तो लगभग 25 प्रश्नों को हटा दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here