मेट्रो उद्घाटन में नहीं बुलाए जाने को भुनाने में जुटे केजरीवाल​

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो के मेजेंटा लाइन के उद्घाटन समारोह पर दिल्ली के मुख्य-मंर्ती अरविन्द केजरीवाल को न्योता न देने पर राजनीती गरमा रखी है. सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने ई-मेल और फेसबुक के जरिए पार्टी से जुड़े लोगों को मैसेज भेजकर चंदा देने की अपील की है. पार्टी के फेसबुक पेज पर डाले गए एक पोस्ट में कहा गया, ‘दिल्ली के मुख्यमंत्री को मेट्रो की मेजेंटा लाइन के उद्घाटन के लिए नहीं बुलाया गया, अगर आप गुस्सा हैं तो चंदा दें.’ उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे दिल्ली के लोगों का अपमान बताया.

मैसेज और ईमेल के ज़रिये पार्टी ने समर्थकों को भावनात्मक संदेश भेजा और 100 रूपए के चंदे की अपील की. साथ ही में लोगों को एक संगठित ताकत में तब्दील करने की बात की गयी। लोगों और समर्थकों के लिए ईमेल में एक लिंक भी भेज रहा है जो सीधा आम आदमी पार्टी को चंदा देने वाली वेबसाइट पर खुलता है.

इस पर पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा, “जब भी केंद्र सरकार द्वारा AAP को दबाने का प्रयास किया जाता है, जब भी दिल्ली की निर्वाचित सरकार पर हमला होता है. तब भारत के लोग खड़े होते हैं और पार्टी का समर्थन करते हैं. चंदा इस तरह के समर्थन की सिर्फ एक अभिव्यक्ति है.”

इस प्रोजेक्ट में दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन की 50 प्रतिशत हिस्सेदारी होने के बावजूद मुख्य-मंत्री केजरीवाल को उद्घाटन समारोह मे नहीं बुलाया गया। गुस्साई आम आदमी पार्टी ने केंद्र सरकार से दिल्ली सरकार की हिस्सेदारी वापस करने तक की मांग कर दी थी. 25 दिसंबर 2017 को प्रधान मंत्री मोदी ने उत्तर प्रदेश के मुख्य-मंत्री योगी आदित्यनाथ सहित दिल्ली मेट्रो की मैजंटा लाइन का उद्घाटन किया था.

गंधर्व गुलाटी

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here