भाजपा की दलित राजनीतिः अमित शाह ने दलित के घर किया भोजन

जयपुर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार (23 जुलाई) को जयपुर में बारिश के बीच पार्टी के बूथ स्तर के एक दलित कार्यकर्ता के घर जाकर भोजन किया. उनके साथ राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी और कुछ अन्य नेता मौजूद थे.

जयपुर की सुशील पुरा कॉलोनी में अमित शाह और भाजपा के अन्य नेताओं ने बूथस्तर के कार्यकर्ता रमेश पचारिया के घर में जमीन पर बैठ कर पत्तल के दोने में भोजन किया. पानी के लिए मिट्टी से बना सिकोरा रखा गया था. परिवार के लोगों ने सभी मेहमानों की पूरी आवभगत की.

भाजपा दिग्गजों का पारंपरिक स्वागत किया गया और उन्हें देखने के लिए पचारिया के घर के चारों ओर सैकड़ों स्थानीय लोगों और भाजपा कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगा रहा. भाजपा के एक कार्यकर्ता ने बताया कि अमित शाह ने पचारिया के घर 25-30 मिनट बिताए. भाजपा अध्यक्ष को भोजन में चावल, दाल, चपाती, भिंडी की सब्जी, राजस्थान की मशहूर गट्टे की सब्जी और खीर परोसी गई. इसके अलावा हलवे का भी इंतजाम था.

पचारिया ने कहा कि मेहमानों के लिए खाना उनकी मां ने पकाया. सिविल लाइंस विधानसभा क्षेत्र से विधायक और सामाजिक अधिकारिता मंत्री डॉ अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष एक बूथ स्तर के कार्यकर्ता के घर भोजन करने आए, इससे पार्टी, विशेष तौर पर निचले स्तर तक के कार्यकर्ताओं में उत्साह बढ़ेगा. चतुर्वेदी ने कहा कि पार्टी ने अपने इस बूथ लेवल के कार्यकर्ता के घर का चयन उसके सक्रिय कार्यों के आधार पर किया, न कि उसकी जाति या वर्ग को देखकर.

उन्होंने कहा, हम अपने कार्यकर्ताओं को उनके कामों के आधार पर पहचान देते हैं, न कि उनकी जाति या उनके वर्ग को देखकर. पार्टी के कामों में पचारिया की सक्रिय भागीदारी को देखते हुए उसके घर पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के भोजन करने का कार्यक्रम बनाया गया.

अमित शाह का तीन-दिवसीय जयपुर दौरा रविवार को संपन्न हो गया. उनके इस दौरे का मकसद राज्य में पार्टी को बूथ स्तर पर और मजबूती प्रदान करना था. राजस्थान में अगला विधानसभा चुनाव दिसंबर, 2018 तक होने की उम्मीद है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here