एयर इंडिया पर एक लाख रुपया हर्जाना

एनबीटी ब्यूरो, इलाहाबाद। हाई कोर्ट जज की पत्नी की हवाई यात्रा में दिए गए नाश्ते में कीड़ा निकलने की शिकायत पर उपभोक्ता फोरम ने एयर इंडिया पर एक लाख रुपया हर्जाना लगाया है. जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष सुखलाल एवं सदस्य सुमन पांडेय ने जस्टिस एमके मित्तल की पत्नी डॉ. नीलम मित्तल की शिकायत पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया है.

उपभोक्ता फोरम ने एयर इंडिया को आदेश दिया है कि दो महीने के भीतर डॉ. नीलम मित्तल को एक लाख रुपये मानसिक पीड़ा के लिए और पांच हजार रुपये मुकदमा लड़ने का खर्च भी दें. फोरम ने स्पष्ट किया है कि दो महीने की अवधि बीतने के बाद भुगतान होने पर आठ प्रतिशत ब्याज धनराशि भी देनी पड़ेगी. फोरम ने कहा कि हवाई यात्रा के टिकट में नाश्ते का शुल्क शामिल रहता है. इसलिए यात्रा में स्वस्थ, स्वच्छ नाश्ता देना कम्पनी का दायित्व है. जबकि दिए गए नाश्ते में कीड़ा निकला जिससे उपभोक्ता की तबियत खराब हो गई. इसके अलावा दोबारा नाश्ता भी नहीं दिया गया. दोनों ही कार्य सेवा में कमी से जुड़े हैं जो अनफेयर ट्रेड प्रैक्टिस है.

यह था पूरा मामला
डॉ. नीलम मित्तल ने कोलकाता से पार्ट ब्लेयर का हवाई जहाज का टिकट 12,290 में खरीदा. फ्लाइट 8 जून 2008 को 5:30 बजे की थी लेकिन 6:30 बजे रवाना हुई. रास्ते में दिए गए नाश्ते में कीड़ा निकला जिसे वापस लेकर दूसरा नाश्ता नहीं दिया गया. इसके लिए फोरम में शिकायत की गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here