जन्मदिन पर पहली बार जिग्नेश मेवाणी पर मायावती का बड़ा बयान

 नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमों मायावती का 62वां जन्मदिन आज लखनऊ में धूमधाम से मनाया गया. इस दौरान लखनऊ में बसपा मुख्यालय में केक काटने के बाद उन्होने अपनी किताब बीएसपी की ब्लू बुक ‘मेरे संघर्षमय जीवन और बीएसपी मूवमेंट का सफरनामा भाग-13 का विमोचन भी किया. यह पुस्तक हिंदी और अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित की गई है। जन कल्याण में उनका योगदान देखते हुए पार्टी उनका जन्मदिन जन कल्याणकारी दिवस के रुप में मनाती है.

अपने जन्मदिन के अवसर पर मीडिया को संबोधित करते हुए मायावती ने कांग्रेस तथा भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी जी इस बार तो गुजरात में बेघर होने से बच गए लेकिन अब उन्हे सतर्क रहना होगा, कांग्रेस तथा भाजपा दोनों ही सांप्रदायिकता तथा जातिवाद को बढ़ावा देकर समाज को बांटने का काम कर रही हैं। औऱ बसपा ही एक ऐसी अकेली पार्टी जो बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के रास्ते पर पूरी तरह चलती आ रही है। इतना ही नहीं अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं की सराहना करते बहन जी ने कहा कि बसपा ने हमेशा गरीबों, दलित, पिछड़ों के लिए काम किया है औऱ इसके लिए पार्टी कुर्बान होने के लिए हमेशा तैयार रहती है.

इसके साथ ही गुजरात में जिगनेश मेवाणी की जीत पर उन्होने कहा कि एक दलित समाज के व्यक्ति श्री जिग्नेश मेवाणी ने अाज़ाद उम्मीदवार के रूप में जो यह चुनाव जीता है तो यह चुनाव उसने केवल अकेले दलितों के वोटों से नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी व श्री हार्दिक पटेल के समर्थन से ही जीता है और इनकी इस सीट पर कांग्रेस पार्टी ने एक सोची समझी रणनीति के तहत ही अपनी पार्टी का उम्मीदवार भी खड़ा नहीं किया था. अब यह पार्टी पर्दे के पीछे से फायदे उठाना चाहती है जिससे दलित वर्ग के लोगों को सावधान रहना होगा.

पियूष शर्मा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here