छात्रा को जलाए जाने के खिलाफ मायावती ने खोला मोर्चो

उत्तर प्रदेश में दलित छात्राओं के साथ बलात्कार और उन्हें जला दिए जाने जैसी बड़ी घटनाओं को लेकर बसपा मुखिया मायावती ने मोर्चा खोल दिया है। प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने यूपी सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि प्रदेश में अपराधी बेखौफ हो गए हैं। उन्होंने उत्तर प्रदेश में बीजेपी की वर्तमान सरकार में महिला सम्मान तो दूरमहिला सुरक्षा की लगातार बिगड़ती हुई स्थिति पर गहरी चिंता जताई।

बसपा मुखिया ने कहा, आगरा में छात्रा को जिन्दा जला देने व दूसरी छात्रा के साथ दुष्कर्म की घटनाओं से स्पष्ट है कि प्रदेश में जघन्य अपराधी पूरी तरह से बेखौफ हो गए हैं। बुलंदशहर की हाल की भीड़ द्वारा हुई हिंसा की घटना में पुलिस अफसर की मौत के बाद आगरा की ताजा घटनाओं ने लोगों को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि उत्तर प्रदेश में पुलिस व सरकार नाम की कोई चीज है भी की नहीं.

अपराधियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने की मांग करते हुए सुश्री मायावती ने कहा कि, आज हर पीड़ित परिवार समुचित न्याय नहीं मिल पाने के कारण भयभीत व आक्रोशित है। बुलंदशहर की हिंसा में शहीद हुए पुलिस अफसर एस.के. सिंह के मुख्य अभियुक्तों का आज लगभग तीन सप्ताह बाद भी गिरफ्तार नहीं हो पाना यह साबित करने को काफी है कि उत्तर प्रदेश बीजेपी सरकार कानून-व्यवस्था के मामले में कितनी विफल साबित हो रही है.

बसपा प्रमुख के इस बयान के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी इस मामले को लेकर स्थानीय प्रशासन के खिलाफ जंग का ऐलान कर दिया है। बसपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि इंसाफ नहीं मिलने तक सघंर्ष जारी रहेगा.

इसे भी पढ़ें-राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी के लिए विधानसभा चुनाव के नतीजों के क्या मायने है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.