बहनजी, आपने यह भीम आर्मी के बारे में क्या कह दिया?

0
687

नई दिल्ली। बसपा प्रमुख मायावती ने भीम आर्मी के बारे में ऐसा स्टेटमेंट दिया है, जिस पर बड़ी बहस छिड़ सकती है. संभव है कि उनके बयान से बसपा के समर्थकों को भी धक्का लगे. आज 25 मई को जारी एक बयान में बसपा प्रमुख ने भीम आर्मी को आरएसएस और भाजपा से जुड़ा हुआ संगठन बता दिया है. अपने बयान में बसपा प्रमुख ने कहा है कि ‘भीम आर्मी वास्तव में बीजेपी के संरक्षण में पलने वाला संगठन है. बीजी इस संगठन का राजनीतिक इस्तेमाल कर रही है. इसलिए इसके नेताओं पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है.’ हालांकि मायावती ने भीम आर्मी का आर.एस.एस या भाजपा से संपर्क होने का कोई सबूत नहीं दिया.

बसपा प्रमुख के इस बयान के बाद देश भर से प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है. तमाम लोगों मायावती के इस कदम और बयान से हैरान हैं. बसपा प्रमुख ने अपनी विज्ञप्ति में भीम आर्मी पर बाबासाहेब अम्बेडकर की जयंती के दौरान लोगों से चंदा वसूलने का आरोप लगाया है. जबकि भीम आर्मी ने संत रविदास औऱ बाबासाहेब की मूर्ति की स्थापना और इनकी मूर्ति के अनादर और दलित समाज के लोगों पर जुल्म के खिलाफ अपना प्रदर्शन किया था.

बसपा के सहारनपुर यूनिट का संदर्भ लेते हुए मायावती ने कहा है कि सहारनपुर बसपा के लोगों का यह मानना है कि भीम आर्मी नाम का संगठन पूरे तौर पर बीजेपी का Product है और इसी संगठन के जरिए बीजेपी उत्तर प्रदेश में बसपा द्वारा सर्वसमाज में बनाए गए भाईचारे व सौहार्द को नफरत में बदलना चाहती है. हालांकि अपने तमाम आऱोपों के बारे में बहुजन समाज पार्टी या फिर उसकी मुखिया मायावती कोई प्रमाण नहीं दे पाई हैं.

अशोक दास

अशोक दास

बुद्ध भूमि बिहार के छपरा जिले का मूलनिवासी हूं।गोपालगंज कॉलेज से राजनीतिक विज्ञान में स्नातक (आनर्स) करने के बाद सन् 2005-06 में देश के सर्वोच्च मीडिया संस्थान ‘भारतीय जनसंचार संस्थान, जेएनयू कैंपस दिल्ली’ (IIMC) से पत्रकारिता में डिप्लोमा। 2006 से मीडिया में सक्रिय। लोकमत, अमर उजाला, भड़ास4मीडिया और देशोन्नति (नागपुर) जैसे प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों में काम किया। पांच साल तक कांग्रेस, भाजपा सहित तमाम राजनीतिक दलों, विभिन्न मंत्रालयों और पार्लियामेंट की रिपोर्टिंग की।
'दलित दस्तक' मासिक पत्रिका के संस्थापक एवं संपादक। मई 2012 से लगातार पत्रिका का प्रकाशन। जून 2017 से दलित दस्तक के वेब चैनल (www.youtube.com/c/dalitdastak) की शुरुआत।
अशोक दास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.