गवास्कर को क्यों याद आएं धोनी

भारतीय क्रिकेट के दो दिग्गज, सुनील गवास्कर और महेन्द्र सिंह धोनी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। दक्षिण अफ़्रीका दौरे पर भारतीय टीम के चयन और एक के बाद एक फैसलों ने क्रिकेट के जानकारों को हैरान कर दिया है. चाहे वो टीम के उप कप्तान और विदेशी ज़मीं पर सबसे सफल भारतीय बल्लेबाज़ों में से एक अजिंक्य रहाणे को बाहर रखना हो या पहले टेस्ट के अपने सबसे सफल गेंदबाज़ भुवनेश्वर को दूसरे टेस्ट में ना खिलाना हो या फिर मैच के चौथे दिन तीसरा विकेट गिरने के बाद रोहित शर्मा को बल्लेबाजी के लिए ना भेजना हो.

एक के बाद एक फैसलों से अब क्रिकेट के दिग्गज सुनील गवास्कर को टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की याद आने लगी है. हालिया फैसलों पर उन्होंने कहा कि भारतीय क्रिकेट से जुड़े हम सभी लोगों को दुआ करनी चाहिए कि ये जो कर रहे हैं वो काम कर जाए. पहले टेस्ट में वो काम नहीं किया. दूसरे टेस्ट में भी अब तक वो काम नहीं किया है.

गावस्कर टीम से इतने निराश दिखे कि उन्हें पूर्व भारतीय कप्तान महेंदर सिंह धोनी की याद आ गई. उन्होंने कहा, “काश उन्होंने संन्यास नहीं लिया होता. उन्होंने कहा कि अगर धोनी चाहते तो वो खेल सकते थे. लेकिन साफ़ है कि उन पर कप्तानी का बहुत दबाव था.” गवास्कर ने कहा कि धोनी को कप्तानी छोड़ कर बतौर विकेट कीपर बल्लेबाज़ टीम में बने रहना चाहिए था. क्योंकि ड्रेसिंग रूम में उनकी सलाह अनमोल है. शायद उन्होंने सोचा कि उनका चले जाना ही ठीक है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here