यहां लगी है बलात्कार पीड़िताओं के कपड़ों की प्रदर्शनी

अकसर देखा जाता है कि यौन उत्पीड़न के मामलों में पीड़ित महिलाओं पर ही आरोप लगा दिए जाते हैं. कह दिया जाता है कि अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न के लिए वो खुद भी ज़िम्मेदार हैं. बलात्कार या यौन हिंसा के पीछे कई बार उनके ‘भड़काऊ’ कपड़ों को वजह बता दिया जाता है. इस धारणा को तोड़ने के लिए बेल्जियम में एक अनोखी प्रदर्शनी का आयोजन किया गया. यहां वे कपड़े प्रदर्शित किए गए जो बलात्कार के वक़्त पीड़िताओं ने पहन रखे थे.

ब्रसेल्स के मोलेनबीक ज़िले में लगाई गई इस प्रदर्शनी को ‘इज़ इट माय फॉल्ट?’ यानी ‘क्या ये मेरी गलती थी?’ नाम दिया गया है. इन कपड़ों में कई ट्रैकसूट बॉटम, पजामे और ड्रेस शामिल थीं, जो पीड़िताओं ने आयोजकों को दी थीं. इस प्रदर्शनी का आयोजन पीड़ित सहायता समूह सीएडब्ल्यू ईस्ट ब्राबेंट की ओर से किया गया था. इस प्रदर्शनी में साफ देखा जा रहा है कि वो कपड़े बहुत हीसाधारण है, और उसे हर कोई पहनता है.

रिपोर्ट के मुताबिक बेल्जियम में होने वाले बलात्कारों के केवल 10 फीसदी मामले ही पुलिस में रिपोर्ट किए जाते हैं और 10 में से एक में ही आरोपी को सज़ा होती है. सीएडब्ल्यू की लिसवेथ केन्स का कहना है कि हमारा समाज ही पीड़िताओं को अपने साथ हुए ग़लत बर्ताव को बताने से रोकता है. केन्स कहती हैं, “पीड़िताओं पर ही उत्तेजक कपड़े पहनने, फ्लर्ट करने या देर रात घर आने का आरोप लगा दिया जाता है, जबकि उस अपराध का ज़िम्मेदार सिर्फ वो अपराधी होता है.” फिलहाल ये अनोखी प्रदर्शनी बलात्कार पीड़िताओं के दर्द की कहानी बयां कर रहा है.

Dalit Dastak

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here