इग्नू में आम्बेडकर और आदिवासी पर पाठ्यक्रम शुरू

0
341

नई दिल्ली। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय यानि इग्नू नए सत्र से चार नए पाठ्यक्रम शुरू करने जा रहा है. इनमें संविधान निर्माता डा. भीमराव आम्बेडकर और आदिवासी​​​​​​ अ​ध्ययन पर आधारित पाठ्यक्रम भी शामिल है.​ ​इसके अलावा, प्राथमिक चिकित्सा​ और इवेंट मैनेज​मेंट जैसे रो​जगारपरक पाठ्यक्रम भी ​हैं​​​​. यह सभी डिप्लोमा या प्रमाणपत्र आधा​​रित पाठ्यक्रम ​हैं​​​. इग्नू क्षेत्रीय कार्यालय राजघाट की दाखिला प्रमुख डॉ. विनीता कटियार ने बताया कि अकादमिक सत्र जुलाई 2018 के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है.

नए सत्र के दाखि​​ले के साथ ही द्वितीय और तृतीय वर्ष में दाखिले की प्रक्रिया भी चल रही है. इसकी अंतिम तिथि 15 जून है.​ ​​डॉ. आम्बेडकर पर शुरू हुए पाठ्यक्रम के बारे में इग्नू के क्षेत्रीय प्रबंधक​  डॉ. के. डी प्रसाद​ का कहना है कि युवा पीढ़ी के लिए डॉ. भीमराव आम्बेडकर को जानना बहुत जरूरी है. वह किसी वर्ग या जाति के नेता नहीं, बल्कि देश की महान विभूतियों में शामि हैं. आज के परिदृश्य में उनके विचार बेहद प्रासंगिक है. उन पर पाठ्यक्रम शुरू करना इसी कड़ी का हिस्सा है.

ये होंगे पाठ्यक्रम

सर्टिफिकेट इन ट्राइबल स्टडीज (सीटीआरबीएस) इस पाठ्यक्रम को जनजातीय जीवन के अध्ययन और उनके विकास को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है. सामाजिक कल्याण के क्षेत्र में काम कर रहे लोगों को इसके टारगेट ग्रुप में रखा गया है.

कौन कर सकता हैः 12वीं या इग्नू से बीपीपी उत्तीर्ण

फीस- 1000 रुपये

सर्टिफिकेट प्रोग्राम ऑन लाइफ एंड थॉट्स ऑफ बीआर आम्बेडकरः सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक क्षेत्र पर आम्बेडकर के विचारों को समझने के प्रयास के रूप में शुरू किया गया है.

अहर्ता- 12वीं, फीस- 1000 रुपये

साभारः मानसी मिश्रा

Read Also-बिहार के निवासी को इस सरकारी नौकरी में मिलेगी छूट, ऑनलाइन आवेदन करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.