14 अप्रैल से आरक्षण के खिलाफ आंदोलन शुरू करेगा ब्राह्मण महासभा

नई दिल्ली। भाजपा सरकार के आने के बाद आरक्षण पर हमले तेज हो गए हैं. जहां संघ प्रमुख मोहन भागवत आरक्षण की समीक्षा की बात कह चुके हैं, तो वहीं भाजपा के मंत्री भी लगातार आरक्षण पर हमला बोलते रहे हैं. मामला संवैधानिक होने और आरक्षण के नाम पर बिहार चुनाव में हार के बाद भाजपा अब सीधे तौर पर आरक्षण पर हाथ डालने से बच रही है, लेकिन उसको समर्थन देने वाले संगठनों ने अब आरक्षण के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा अब आरक्षण के खिलाफ आंदोलन शुरू करने जा रही है. ब्राह्मण महासभा आरक्षण के खिलाफ आंदोलन वंचित तबके को संविधान में आरक्षण दिलाने वाले संविधान निर्माता डॉ. आम्बेडकर की जयंती 14 अप्रैल से शुरू करेगी. अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री डॉ. केसी पांडेय ने इसकी घोषणा की है. पांडेय के मुताबिक महासभा 14 अप्रैल से ‘आरक्षण हटाओ-देश बचाओ आंदोलन’ शुरू करेगी. इस दिन सभी जिला मुख्यालयों पर आरक्षण विरोधी प्रदर्शन किया जाएगा.

डॉ. पाण्डेय ने पांच फरवरी को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दारुलशफा में आयोजित एक कार्यक्रम में इसकी घोषणा की. इस आयोजन में आरक्षण विरोधी तमाम अन्य संगठनों के लोग भी मौजूद थे. सम्मेलन में ब्राह्मण महासभा के अलावा परशुराम सेना व महिला ब्राह्मण सभा के जिलाध्यक्षों एवं राज्य कार्यकारिणी के लोग मौजूद थे. ब्राह्मण महासभा की इस घोषणा के बाद आरक्षण समर्थक संगठन भी सक्रिय हो गए हैं. तो वहीं सोशल मीडिया पर इस खबर को लेकर बहस छिड़ गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here