गोरखपुर और फूलपुर में खतरे में भाजपा

उत्तर प्रदेश में फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए 11 मार्च को चुनाव हो चुका है. दोनों सीटों पर बीजेपी और सपा के बीच कांटे का मुकाबला है. फूलपुर में 37.40 फीसदी और गोरखपुर में 43 फीसदी लोगों ने मतदान किया. मतदान का यही प्रतिशत भाजपा के लिए अब चिंता का विषय बन गया है. इसके बाद अब दोनों सीटों पर सबकी निगाहे गैर जाटव और गैर यादव वोटो पर हैं. यही वोटर दोनों चुनाव का भविष्य तय करेंगे.

चुनाव प्रचार के दौरान भी सीएम योगी अपनी चुनावी सभाओं में लगातार शहरी मतदाताओं से ज्यादा से ज्यादा वोटिंग करने की अपील करते थे. असल में शहरी मतदाताओं को परंपरागत तौर पर भाजपा का वोटर माना जाता है. लेकिन वोटिंग के बाद साफ है कि शहरी मतदाताओं में वोटिंग को लेकर उत्साह नहीं रहा. गोरखपुर में हुए कुल 43 प्रतिशत वोटिंग मे से गोरखपुर शहर में सबसे कम 37.76 प्रतिशत वोटिंग हुई. जबकि ग्रामीण इलाकों पिपराइच में 52.24 प्रतिशत और सहजनवां में 50 प्रतिशत वोटिंग हुई.

यही हाल फूलपुर का भी है. यहां हुई साढ़े 37 प्रतिशत वोटिंग में सबसे कम उत्साह शहरी वोटरों का ही रहा. इलाहाबाद पश्चिमी में 31 प्रतिशत और इलाहाबाद उत्तर में 21.65 प्रतिशत वोटिंग ही हुई. इस कम वोटिंग ने भाजपा की चिंता को बढ़ा दिया है. वैसे भारतीय जनता पार्टी दोनों सीटों पर अगड़ी जातियों के वोट को लेकर निश्चिंत है. लेकिन बसपा-सपा के साथ के बाद उसकी नजर भी गैर जाटव और गैर यादव वोटरों पर टिकी रही. भाजपा ने सबसे ज्यादा मेहनत इन्हीं दोनों वर्गों के बीच किया है. गोरखपुर में करीब 19 लाख वोटर हैं,जिसमें से आधे से ज्यादा ओबीसी समाज के हैं. दलित वोटों की बात करें तो गोरखपुर और फूलपुर दोनों जगहों पर उनकी उपस्थित प्रभावी है. देखना है ऊंट किस करवट बैठता है.

2 COMMENTS

  1. bjp an ambani ne jio ko promote kiya hai.
    bharat ki kabhi navratan company me shmil rahi BSNL connect India ko bharat sarkar ne hi aaj matiamet kar diya hai.
    kisi samy bsnl ka netowrk or service top raha karti thi. aaj is desh ke bsnl employee ko barbad karne me sarkar din rat kam kar rahi hai.
    jio ko use use karna ban karo,,
    take bsnl

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.