गांव जाने को नहीं मिली गाड़ी, बिहारी युवा ने शुरू की ओला-उबर से सस्ती कैब सर्विस

0
1920

नई दिल्ली। स्टेशन पर उतरने के बाद गांव जाने के लिए गाड़ी ना मिलने के कारण अक्सर लोगों को भटकना पड़ता है. कई बार तो स्टेशन पर रात गुजारनी पड़ती है और नहीं तो प्राइवेट गाड़ी वाले मनमाना दाम वसूलते हैं. इतना के वाबजूद भी सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं होती. समस्या यहीं खत्म नहीं होती है. जब गांव से शहर आकर अहले सुबह या शाम-रात में ट्रेन पकड़नी हो तो गांव के लोगों को एक दिन पहले ही निकलना होता है.

इन तमाम समस्याओं से जूझते एक जुझारू बिहारी युवा ने समाधान निकाला. इस युवा ने काफी मेहनत कर ओला-उबर की तरह गांव के लिए कैब सेवा शुरू की. इसकी मेहनत देखकर पीएम के वीडियो कांफ्रेंस कार्यक्रम में शामिल किया गया. इस युवा का दावा है कि गांव के लोगों को सस्ती व सुरक्षित कार का सफर कराने के लिए सेवा आरंभ की गई है. सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि बिहार की कैब सर्विस ओला-उबर से भी सस्ती कैब सेवा है. रवि रणवीरा, दलित दस्तक से बातचीत करने पर बिहारी युवा ने बताई अपने सफर की कहानी…

बिहार के सहरसा के दूर दराज बनगांव में रहने वाले दिलखुश कुमार जो कल तक कंस्ट्रक्शन कंपनी में करते थे. वो आज आर्य गो कैब कंपनी के मालिक हैं. अक्टूबर, 2016 में कैब सर्विस के शुरू कर बिहार के तीन जिला सहरसा, मधेपुरा व सुपौल में कैब सेवा को पहुंचा दिए हैं. और दरभंगा व मुजफ्फरपुर में शुरू होने वाली है. इनका कहना है कि 2020 तक पूरे बिहार में इनकी कंपनी काम करना शुरू कर देगी. साथ ही उत्तराखंड में भी शुरू करने की तैयारी चल रही है.

ड्राइवर पिता का दर्द…

दिलखुश कुमार बताते हैं कि इनके पिताजी पवन खां ने प्राइवेट बस चलाकर इनको पढाया-लिखाया. लेकिन बिहार में ड्राइवरों को तनख्वाह नहीं मिलती जिसके चलते पलायन कर बड़े शहरों में चले जाते हैं. इस पलायन को रोकने के लिए दिलखुश अपनी कंपनी के जरिए ड्राइवरों की जिंदगी बदलने का संकल्प लेकर काम आरंभ किए हैं. साथ ही जिनकी कार, बेकार पड़ी हुई हैं उनको भी अपने साथ जोड़ेंगे.

बेटी होने पर मुफ्त सैर…

दिलखुश जमीनी स्तर पर जुड़े होने के कारण इनका यह भी मानना है कि मुनाफा के साथ-साथ समाजिक कल्याण के लिए भी काम किया जाना चाहिए. इसके लिए आर्य गो कैब बेटी पैदा होने पर जच्चा-बच्चा को सरकारी अस्पताल से घर तक की मुफ्त सेवा देगा. साथ ही सैनिक-शहीदों के परिवार के लिए भी आकर्षक ऑफर दिया जाएगा.

पीएम मोदी से बात…

06 जून, 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के युवा स्टार्ट्प्स से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बात की. केंद्र सरकार के इस कार्यक्रम में दिलखुश की कंपनी आर्य गो कैब को शामिल किया गया. इस दौरान दिलखुश ने पीएम की बात सुनी. हालांकि समय अभाव के कारण करीब एक घंटा तक ही पीएम ने युवाओं को संबोधित किया. इनका कहना है कि बिहार सरकार इनको मदद कर रही है, आने वाले दिनों में सरकार हम युवाओं की मदद करेगी तो हम रोजगार पैदा करेंगे और गांवों की तस्वीर भी बदलेगी.

सुरक्षा की गारंटी

दिलखुश बताते हैं कि सुरक्षा के लिए हमारी टीम ऑनलाइन निगरान रखेगी. इसके अलावा हमारे ड्राइवर किसी प्रकार का भेदभाव या गलती करते हैं तो उनके खिलाफ एक्शन भी लिया जाएगा. इसके साथ-साथ हमारी टीम हर जिला के डीएम व पुलिस प्रशासन से मिलकर सुरक्षा मुद्दों पर बातचीत कर रही है.

Read Also-विश्व पर्यावरण दिवसः बिहार के तीन लाल, धरती को बचाने में लूटा रहे जवानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.