प्राचार्य की सुविधा के लिए दुसरे जिला में शिफ्ट हुई ITI, 70Km दूर जाते हैं स्टूडेंट्स!

0
327
प्रतीकात्मक फोटो

पटना। बिहार के शिक्षा व्यवस्था की बदहाली को बताते हुए एक और मसला सामने आया है. स्टूडेंट्स को पढ़ाई करने के लिए 70 किमी दूर पढ़ाई करने के लिए जाना पड़ता है. समस्तीपुर जिले के रोसड़ा अनुमंडल का एकमात्र सरकारी आईटीआई कॉलेज में पढ़ने जाने वाले स्टूडेंट्स को करीब सत्तर किलोमीटर पढाई के लिए जाना पड़ता है.

दिव्यांग छात्र-छात्राओं…

जानकारी के अनुसार आईटीआई की स्थापना 2016 में हुआ था. स्थानीय लोगों का कहना है कि भवन के अभाव और प्रशासनिक उपेक्षाओं के कारण रोसड़ा से 70 किलोमीटर दूर दरभंगा शहर में कॉलेज को शिफ्ट कर दिया गया. जबतक कॉलेज के लिए अपना भवन नहीं बन जाता है तब तक के लिए शहर के ही किसी सरकारी विद्यालय या महाविद्यालय में कॉलेज को शिफ्ट किया जाना चाहिए, लेकिन प्राचार्य अपने सुविधा को देखते हुए दरभंगा शहर में शिफ्ट करा लिया. जिससे कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को प्रतिदिन 70 किलोमीटर दूरी तय करने के लिए छह घंटा आने-जाने के लिए देना पड़ता है. इसके अलावा आर्थिक व शारिरिक बोझ भी उठाना पड़ रहा है. खासकर दिव्यांग छात्र-छात्राओं को जाने-आने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है.

नहीं सुन रहे अधिकारी

इस समस्या से निजात पाने के लिए छात्रों ने इस समस्या को लेकर कई बार जिले के उच्चाधिकारियों से अपनी समस्या बताई. लेकिन आजतक कोई नहीं सुना. इसके साथ-साथ जनप्रतिनिधियों से भी जाकर मिला, परन्तु अबतक कोई ठोस परिणाम नहीं निकला है. इस बात को जानने के बाद समाजिक कार्यकर्ता राजेश कुमार सुमन ने जानकारी को फेसबुक वॉल पर शेयर किया. साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से निवेदन किया है कि इस समस्या का निदान निकालें.

इसे भी पढ़ें-बिहार बोर्ड टॉपर घोटालाः रूबी के बाद कल्पना से सवाल…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.