4 माह की निगरानी के बाद NIA ने आतंक के बड़े गठजोड़ का किया भंडाफोड़, 20 से 30 साल के 10 आरोपी अरेस्ट

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार को दिल्ली व यूपी में 17 स्थानों पर छापेमारी कर आतंक के बड़े गठजोड़ का भंडाफोड़ किया है. एनआईए के प्रवक्ता आलोक मित्तल ने बताया कि 10 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है. छह अन्य लोगों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. फिदायीन हमलों की तैयारी कर रहे थे : मित्तल ने बताया कि गिरफ्तार सभी लोग आतंकी संगठन आईएसआईएस से प्रेरित ‘हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम’ से जुड़े थे. ये लोग फिदायीन हमलों से देश की प्रमुख हस्तियों, नेताओं, सुरक्षा प्रतिष्ठानों और दिल्ली के बड़े बाजारों को निशाना बनाने की तैयारी कर रहे थे.

सिलसिलेवार बम धमाके करने की साजिश थी: एनआईए प्रवक्ता ने कहा, जिस स्तर की तैयारी थी उससे लगता है कि वे जल्द हमले को अंजाम दे सकते थे. वे रिमोट कंट्रोल बम बना रहे थे और फिदायीन दस्ता तैयार कर रहे थे. देश के महत्वपूर्ण स्थलों पर सिलसिलेवार बम धमाकों की इनकी योजना थी. गोला बारूद बरामद : संदिग्धों के पास से 112 अलार्म घड़ी, 150 राउंड गोला-बारूद, 12 पिस्टल, करीब 25 किलोग्राम बम बनाने की सामग्री , पोटैशियम नाइट्रेट, पोटैशियम क्लोरेट, सल्फर बरामद हुआ. स्टील पाइप मिले हैं, जिसका पाइप बम बनाने में प्रयोग होता है. आरोपी बुलेट प्रूफ सुसाइड वेस्ट भी बना रहे थे जिससे फिदायीन हमले कर सकें. इनके पास से देश में बना रॉकेट लांचर भी बरामद हुआ है.

सोना चोरी कर हथियार खरीदे: पकड़ में आया मॉडयूल अपने पैसों पर चलाया जा रहा था. सोना चोरी करके हथियार खरीदे गए थे.

विदेशी आका के संपर्क में थे

गिरोह का सरगना मुफ्ती सुहेल अमरोहा का रहने वाला है. वहां एक मदरसे में बतौर मुफ्ती काम कर रहा था. इस समय वह दिल्ली के जाफराबाद में रह रहा था. एनआईए की पूछताछ में पता चला कि एक विदेशी आका के सहारे वह पूरा नेटवर्क संचालित करता था.

गिरफ्तार सभी आरोपी 20 से 30 साल की उम्र के हैं. इनमें नोएडा के निजी विश्वविद्यालय में सिविल इंजीनियरिंग का एक छात्र व डीयू में बीए तृतीय वर्ष का एक छात्र भी शामिल है. ज्यादातर आरोपी मध्यमवर्गीय परिवारों से हैं. दो के अलावा बाकी ज्यादा पढ़े लिखे नहीं हैं.

यहां से गिरफ्तारी

दिल्ली के जाफराबाद और सीलमपुर में छह स्थानों पर छापेमारी की गई. उत्तरप्रदेश के 11 स्थानों पर छापा मारा गया. इनमें से छह स्थान अमरोहा में, दो लखनऊ, दो हापुड़ और एक स्थान मेरठ का है. पांच लोगों को अमरोहा जिले से पकड़ा गया है जबकि पांच को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया.

एटीएस के साथ कार्रवाई

यूपी के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) के आईजी असीम अरुण ने बताया कि एनआईए ने एटीएस के साथ संयुक्त अभियान में कार्रवाई को अंजाम दिया. अधिकारियों के मुताबिक, संदेहास्पद गतिविधियों की सूचना मिलने के बाद पिछले कुछ समय से एनआईए इस समूह पर नजर रख रही थी.

Read it also-सरकार और मोदी की आलोचना पर पत्रकार पर लगा एनएसए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.