दिल्ली में ठंड ने तोड़ी 44 लोगों की सांसों की डोर

नई दिल्ली। उत्तर भारत में ठंड ने तो काफी समय पहले ही दस्तक दे दी थी लेकिन अब सर्द, ठंडी हवाएं सांसों की डोर को काट रही है. दिल्ली पुलिस ने गृहमंत्रालय को एक रिपोर्ट सौंपी जिसके मुताबिक, राजधानी दिल्ली में ठंड के कारण करीब 44 बेघर लोगों की मौत हुई है. सबसे बड़ी बात मौत के ये वो आंकड़े है जिसमें दिल्ली पुलिस ने शवों को सड़क के किनारे से उठाया हैं और सभी मौतें ठंड की वजह से बताई जा रही है. मगर इन मासूमों की चिता पर भी राजनीतिक पार्टियां अपनी रोटियां सेंकने से बाज़ नहीं आरही हैं.

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्विटर पर वीडियो जारी कर आम आदमी पार्टी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा और कहा “सड़क से आंदोलन की शुरुआत करने वाले महलों में सो गए हैं और सड़क पर लोग मौत के मुंह में समा रहे हैं”.

 

इसके जवाब में, हाल ही में राज्यसभा के लिए नामांकन करने वाले आप नेता संजय सिंह ने कहा है कि “दिल्ली सरकार बेघरों के लिए शेल्टर होम का इंतजाम कर रही है. इस बीच ठंड से किसी की भी मौत होना बेहद दुखद है. संजय सिंह यह भी बोले कि बीजेपी अपने राज्यों की चिंता करे, जहां पर बच्ची भात-भात कहकर मर जाती है.”

ये आंकड़े सीएचडी सेंटर फॉर होलिस्टिक डिवेलपमेंट संस्था ने जारी किए थे. सीएचडी के सुनील अलीदा ने बताया कि जोनल पुलिस रात में सड़क से शवों को उठाती है और अब तक केवल जनवरी में 44 बेघरों के शव को उठाया गया है, जिसके आंकड़े पब्लिक डोमेन में जारी हैं. मौसम विभाग की मानें तो फिलहाल हाड़ कंपाती सर्दी से निजात के आसार नहीं है. अगले कुछ दिनों तक सर्दी का सितम जारी रहेगा.

गन्धर्व गुलाटी

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here