10 साल बाद भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसी की ज़मीन पर हराया

0
269

एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 31 रनों से हरा दिया है. खेल के आख़िरी दिन ऑस्ट्रेलिया के सारे बल्लेबाज़ 291 रन पर ही आउट हो गए. इससे पहले भारत ने एडिलेड ओवल में 2003 में टेस्ट मैच जीता था.

भारत ने कभी भी एक टेस्ट सिरीज़ में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पहला मैच नहीं जीता था. इस जीत के साथ ही यह रिकॉर्ड भी टूट गया. भारत ने दूसरी पारी के बाद ऑस्ट्रेलिया को 323 रनों का लक्ष्य दिया था. इस जीत के साथ ही भारत ने चार मैचों की टेस्ट सिरीज़ में 1-0 की बढ़त ले ली है. ऑस्ट्रेलिया की तरफ़ से एस मार्श ने दूसरी पारी में सबसे ज़्यादा 60 रन बनाए. दूसरी पारी में मार्श के अलावा किसी भी खिलाड़ी का निजी स्कोर 50 तक भी नहीं पहुंच पाया. मार्श के बाद कप्तान टिम पेन ने सबसे ज़्यादा 41 रन बनाए. चेतेश्वर पुजारा को मैन ऑफ द मैच मिला. पुजारा ने पहली पारी में 123 और दूसरी पारी में 71 रनों की शानदार पारी खेली थी. इस मैच में पुजारा ने 16वां शतक मारा.

मैच के चौथे दिन भारत ने 307 रन बनाए थे. भारत को पहली पारी में 15 रनों की बढ़त मिली थी और इस आधार पर ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 323 रनों का टारगेट मिला था. चौथे दिन ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी की शुरुआत की लेकिन भारतीय गेंदबाज़ों ने खेल ख़त्म होने तक चार विकेट चटका दिए थे और स्कोर 104 का था.

पाँचवे दिन ऑस्ट्रेलिया ने खेलना शुरू किया तो मोहम्मद शामी और ईशांत शर्मा ने हैंडस्कॉम्ब और ट्रैविस हेड को 14-14 रन के निजी स्कोर पर ही आउट कर दिया. बुमराह ने टिम पेन का सबसे अहम विकेट लिया. टिम पेन ने ऑस्ट्रेलिया की उम्मीद जगा दी थी, लेकिन बुमराह ने 41 रन के निजी स्कोर पर उन्हें चलता कर दिया.

इस मैच में ऋषभ पंत ने रिकॉर्ड 11 कैच लिए. पंत ने ऐसा कर जैक रसल और एबी डिविलियर्स की बराबरी कर ली है. जीत के बाद विराट कोहली ने अपने गेंजबाज़ों की जमकर तारीफ़ की. कोहली ने कहा कि गेंदबाज़ों ने मौक़ों का फ़ायदा उठाया. इसके साथ ही कोहली ने पुजारा और रहाणे की बल्लेबाज़ी की प्रशंसा की. कोहली ने कहा कि पुजारा और रहाणे ने जीत की बुनियाद रखी दी थी. भारतीय कप्तान ने बैटिंग में मिडल ऑर्डर के बाद के प्रदर्शन पर चिंता जताई है. इस जीत के बाद सुनील गावसकर ने कहा कि भारत ने पहली पारी में 15 रन का लीड लेकर आत्मविश्वास हासिल कर लिया था. गावसकर का मानना है कि इस हार के बाद ऑस्ट्रेलिया दबाव में होगा.

आख़िर विकेट के लिए भारतीय गेंदबाज़ों को जूझना पड़ा, लेकिन आर अश्विन ने हेज़लवुड के रूप में 10वां विकेट लेकर ऐतिहासिक जीत दिला दी. इस जी के साथ ही विराट कोहली भारत के पहले कप्तान बन गए हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ़्रीका में टेस्ट मैच जीता. इस जीत से भारत दूसरा एशियाई देश बन गया है जिसने ऑस्ट्रेलियाई ज़मीन पर टेस्ट सिरीज़ का पहला मैच जीता. इससे पहले पाकिस्तान ने ही ऐसा किया था. अश्विन ने कुल 6 विकेट लिए और ऑस्ट्रेलिया में उनका यह बेहतरीन प्रदर्शन था.

2003 में राहुल द्रविड़ के बाद विराट कोहली की टीम ने यह इतिहास रचा है. इस जीत में भारतीय गेंदबाज़ों की ख़ूब सराहना हो रही है. आख़िरी पारी में जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शामी और अश्विन ने तीन-तीन विकेट लिए. पहली पारी में भारत ने 250 रन बनाए थे. इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया 235 रन ही बना पाया और भारत को 15 रनों की बढ़त मिली थी.

Read it also-भारत ने लगातार तीसरी बार अंडर-19 एशिया कप पर किया कब्जा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.