मुंबई। मुकेश अंबानी ने मंगलवार को रिलायंस जियो को लेकर अहम घोषणा की है। जियो के साथ जुड़े कस्टमर्स को धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि काफी तेजी से कस्टमर्स जियों के साथ जुड़े हैं। सिर्फ 170 दिन में ही जियों के ग्राहकों की संख्या 10 करोड़ से ज्यादा पहुंच गई है। उन्होंने बताया की हर महीने जियो यूजर्स ने 100 करोड़ गीगाबाइट्स डेटा यूज किया है। मोबाइल डेटा यूज करने में भारत दुनिया का नम्बर वन देश बन गया है। बता दें कि रिलायंस ने पिछले साल सितंबर को... Read More


लखनऊ। पीएम मोदी के द्वारा चुनावी रैली में श्मशान घाट वाले बयान पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने लगातार जावब दिया। मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी ने गलत बयान दिया है। पिछले तीन-चार दिन सें पीएम अपने भाषणों में धर्म और जाति का एंगल ला रहे हैं। पहले इन्हें अपने गिरेबान में झंकना चाहिए। मायावती ने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों में हर गांव में हिंदुओं के शमशान घाट बनवाने चाहिए, फिर यूपी में ये... Read More


नई दिल्ली। यूपी में चुनाव जारी है रोज यहां जाति समीकरण गिने जा रहे हैं ऐसे में होली का त्यौहार भी दिनों-दिन नजदीक आता जा रहा है। होली के इस त्यौहार की अलग ही धूम होती है। होली का ये त्यौहार यूपी में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। लेकिन इसी यूपी में एक गांव ऐसा भी है जहां इस बार... Read More


नई दिल्ली। यूपी में जैसे-जैसे चुनाव आगे बढ़ रहा है वैसे-वैसे सभी रजनीतिक पार्टीयों का पारा भी बढ़ रहा है। चुनाव के तीन चरण निपटने के बाद अब सभी राजनीतिक पार्टीयों का फोकस चौथे चरण के चुनाव पर है। चौथे चरण के चुनाव में सभी पार्टीयों ने अपनी पूरी ताकत लगा दी है। इस चौथे चरण... Read More


सुल्तानपुर। सोमवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने सुल्तानपुर की रैली से प्रधानमंत्री के बहनजी संपत्ति पार्टी वाले बयान का करारा जवाब दिया । मायावती ने प्रधानमंत्री के नाम की परिभाषा बताई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने शादी की और अपनी पत्नी को छोड़ दिया। मैंने शादी... Read More


भारत ही नहीं भारत के बाहर भी दलितों पर अत्याचार होता है। एबओरिजन्स ऑस्ट्रेलिया के उन लोगों की प्रजाति है, जिन्हें सोसायटी से बहुत दूर रखा जाता है, और इनके साथ जातिगत आधार पर बुरा सलूक किया जाता है। ऑस्ट्रेलिया में इस एबओरिजन्स जाति को दलित माना जाता है। जिस कारण इन्हें शहर और समाज से बहुत दूर रखा जाता है। हालांकि, इनके साथ भेदभाव मिटाने के लिए 43 साल पहले कानून में बदलाव किया गया था, लेकिन हालात आज भी पुराने जैसे ही हैं। हाल ही में एक न्यूज चैनल... Read More


Journey of Dalit Dastak

Opinion

View More Article

Page 2 of 222

Our Publication

GALLERY